बलात्कार! मज़हबी था या धार्मिक?

द्वारा प्रकाशित किया गया
‘सत्यार्चन का सतदर्शन’

संशय!
(ये कहाँ पे आ गये हम?)


कल फिर एक #दुधमुँही_बच्ची के

#बलात्कार_की_खबर

दिनभर #खलबली_मचाती रही..

#लोग_जानना_चाहते थे कि

बलात्कार मज़हबी था या फिर धार्मिक!

देर रात तक भी #संशय_दूर_ना_हो_पाने से

ना तो लोग इस

#बलात्कार_का _मातम

ही ठीक से कर सके

और

ना ही ढंग से

#उत्सव_मनाया_जा_सका!!!

समाचारों की ऐसी अस्पष्ट रिपोर्टिंग के लिये अनेक लोगों ने मीडिया के प्रति #तीखा_आक्रोश_प्रकट किया!


– ‘#सत्यार्चन_का_सतदर्शन’

अच्छा या बुरा जैसा लगा बतायें ... अच्छाई को प्रोत्साहन मिलेगा ... बुराई दूर की जा सकेगी...

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s